एक टुकड़ा ज़मीन!

एक टुकड़ा ज़मीन चाहिए, इस सिर को छुपाने के लिए !

एक टुकड़ा ज़मीन चाहिए, इन् नज़रों को सबकी नज़रों से बचाने के लिए !

एक टुकड़ा ज़मीन चाहिए, खुद को…, खुद से ना  छुपाने के लिए !

 

एक टुकड़ा ज़मीन चाहिए, इस खुले आसमान को निहारने के लिए !!

एक टुकड़ा ज़मीन चाहिए, इस शरीर को पंचतत्वों से मिलाने के लिए !

 

पर बहुत महंगी है “ये एक टुकड़ा ज़मीन”!      

राम और रहीम पर बट रही है “ये एक टुकड़ा ज़मीन”..!

हर किसी के नसीब में नहीं “ये एक टुकड़ा ज़मीन”..!!

One thought on “एक टुकड़ा ज़मीन!

  1. May I simply just say what a comfort to find an individual who genuinely understands what they’re talking
    about on the web. You actually understand how to bring a problem to light and make it
    important. More people should read this and understand this side of the story.
    I was surprised you’re not more popular because you most certainly possess the gift.

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.