गुलाब  जामुन

 गुलाब  जामुन :

ठीक  6 साल पहले  पापा लाये थे गुलाब  जामुन  पन्द्रह -सोलह घंटे अपने हाथों में पकड़े  , कहीं भी उन् गुलाब  जामुनों को अपने हाथों से छूटने नहीं दिया था उन्होंने , और फिर उन् गुलाब जमूनो  की ख़ुशी मेरे चेहरे पे देख के ख़ुशी से भर गया था उनका चेहरा।  और आज 6 साल बाद मैं  भी ले आई हूँ गुलाब जामुन उनके लिए ,  अपने हाथों में पकड़े  और उन् गुलाब जामुनों की ख़ुशी उनके चेहरे पे देख के ख़ुशी से भर आई हैं मेरी आँखे।  

वैसे तो ये सिर्फ गुलाब जामुन ही हैं , पर हमारे लिए ये किस्सा है ज़िन्दगी का।   

We all grow with time, we all learn with time.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.